कॉरेस्पोंडेंस से टेेक्निकल कोर्स की मान्यता नहीं

    250
    0
    SHARE
    correspondence-course
    कैम्पसजोश

    सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को साफ कर दिया कि किसी तरह का कोई भी Technical course कॉरेस्पोंडेंस मोड से नहीं होगा.

    ओडिशा हाईकोर्ट के पूर्व के फैसले को खारिज करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि तकनीकी शिक्षा Distance education के माध्यम से उपलब्ध नहीं कराई जा सकती है.

    सुप्रीम कोर्ट ने शैक्षणिक संस्थानों में Distance education मोड में engineering जैसे विषयों वाले कोर्स शुरू नहीं करने का कहा है.

    यह फैसला महत्वपूर्ण हैं क्योंकि अक्सर ऐसा देखा जाता है कि पत्राचार के माध्यम से Technical course करने वाले छात्रों को प्रैक्टिकल नॉलेज कम होता है या फिर नहीं होता है.

    ओडिशा हाईकोर्ट ने इससे पहले Technical courses को डिस्टेंस एजुकेशन मोड से कराने की मंजूरी दी थी. अब सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद इनके correspondence मोड पर रोक लगा दी है.

    सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में पंजाब एवं हरियाण कोर्ट के उस फैसले को भी सही ठहराया है जिसमें दो साल पहले हाईकोर्ट ने कंप्यूटर साइंस में दूरस्थ शिक्षा माध्यम से ली गई डिग्री को रेग्लूयर मोड में ली गई डिग्री को एक समान मानने से इंकार कर दिया था.